BollywoodBollywood FamilyFilmy Facts

पुष्पा के बनने की पूरी कहानी।

कोई भी फ़िल्म असल मायने में उसी दिन कामयाब हो जाती है जब उसको बनाने वाले से कहीं ज़्यादा उसे देखने वाले उसका प्रचार करने लगते हैं। इस मामले सबसे ताज़ातरीन और बेहतरीन उदाहरण है फ़िल्म ‘पुष्पा द राइज़’।

फ़िल्म ने साउथ की चार भाषाओं में तो जमकर कमाई की ही, हिंदी में भी बेहद कामयाब साबित हुई और उसकी सबसे बड़ी वज़ह बनी आम लोगों द्वारा सोशल मीडिया के ज़रिये धूँआधार प्रचार, जो कि बहुत ही कम फ़िल्मों को नसीब होता है।

आज के दौर में जहाँ फ़िल्मों को लेकर हर हफ्ते दर्शकों का टेस्ट बदल जाता है वहीं पुष्पा फिल्म लगभग 2 महीनों से सबके दिलों पर राज कर रही है। इस बेहद कामयाब फ़िल्म से जुड़ी ढेरों दिलचस्प बातें और इससे जुड़े कुछ रोचक किस्से आज हम आपको बताने वाले हैं।

Pushpa The Rise Naarad121
‘पुष्पा’ फ़िल्म कहानी, निर्माण व निर्देशन

‘पुष्पा’ फ़िल्म कहानी, निर्माण व निर्देशन-

फिल्म की कहानी आंध्र प्रदेश की पहाड़ियों में होने वाली लाल चंदन की तस्करी पर आधारित है, कहानी का नायक पुष्पराज एक दिहाड़ी मजदूर है, जो लाल चंदन की तस्करी में माल ढोने का काम करता है और तेज़ दिमाग के कारण इस तस्करी के धंधे में धीरे-धीरे अंदर तक घुस जाता है।

पुष्पराज किसी के सामने सर नहीं झुकाता है और एक सीधी सादी लड़की श्रीवल्ली से प्यार करता है। एक अनाथ मजदूर से तस्करी की दुनिया का बेताज बादशाह बनने के दर्मियान उसका सामना कई बड़े गैंगस्टरों और पुलिस अफसरों से भी होता है, जो दर्शकों को फिल्म से बाँधे रखने का काम करते हैं।

प्रोड्यूसर नवीन येर्नेनी और वाई. रवि शंकर की फ़िल्म ‘पुष्पा द राइज़’ की कहानी फिल्म के डायरेक्टर सुकुमार ने ख़ुद ही लिखी है। हालांकि कहानी लंबी होने के कारण इसके मेकर्स ने फिल्म को दो हिस्सों में बनाकर रिलीज़ करने का फैसला लिया था। निर्माता वाई रविशंकर ने एक इंटरव्यू में बताया था कि ‘पुष्पा’ की कहानी बहुत लंबी है और ढाई घंटे में इसे पूरा सुनाना मुश्किल था।

ऐसे में निर्देशक व कलाकारों ने सोचा कि वह फिल्म को दो भागों में रिलीज करेंगे। मज़े की बात कि ‘पुष्पा’ फिल्म की 80 प्रतिशत शूटिंग पूरी होने के बाद मेकर्स ने इसे दूसरे पार्ट में बनाने का विचार किया। इसकी प्रेरणा उन्हें ‘बाहुबली’ की कामयाबी से मिली क्योंकि वह भी दो भाग में बनी थी और कामयाब भी रही थी। 

गोल्ड माइन्स टेलीफिल्म्स (Goldmines Telefilms) के डायरेक्टर मनीष शाह, जिन्होंने इस फिल्म के हिंदी रिलीज़ के राइट खरीदे हैं, उन्होंने बॉलिवुड हंगामा को दिए एक इंटरव्यू में बताया था कि ‘पुष्पा 2- द रूल’ की शूटिंग इस साल मार्च या अप्रैल में शुरू हो सकती है।  उन्होंने बताया कि ‘पुष्पा 2’ की शूटिंग करीब 250 दिन तक चलेगी। ‘पुष्पा’ के पहले भाग की शूटिंग भी 210 दिन तक चली थी। उम्मीद की जा रही है कि साल 2023 तक पुष्पा 2 रिलीज हो सकती है। 

Allu-Arjun-Rashmika-Mandanna-Sukumar-NaaradTV
‘पुष्पा’ फ़िल्म शूटिंग

‘पुष्पा’ फ़िल्म शूटिंग-

‘पुष्पा’ फ़िल्म की शूटिंग 210 दिन तक चली थी। जिसके बारे में बात करते हुए, अल्लू अर्जुन ने एक इंटरव्यू में कहा था कि कहने को तो यह सिर्फ एक ही फिल्म है, लेकिन पुष्पा की शूटिंग के दौरान उन्हें एक बार में चार फिल्में करने की तरह महसूस हुआ था। लाल चंदन की तस्करी पर आधारित इस फिल्म की शूटिंग दक्षिण भारत के कई हिस्सों में की गई थी।

फिल्म की मेन शूटिंग आंध्र प्रदेश के फॉरेस्ट विलेज ‘मरेदुमल्ली’ में की गयी थी जो कि बेहद ही ख़ूबसूरत है। ‘पुष्पा’ फिल्म के लिए रोजाना 500 लोगों की ज़रुरत होती थी और फिल्म की यूनिट को जंगल ले जाने के लिए मेकर्स रोजाना 300 गाड़ियों का इस्तेमाल किया करते थे।

बताया जाता है कि फिल्म के एक सीन को फिल्माने के लिए 1500 लोगों को इकट्ठा किया गया था ताकि भीड़ का सीन एकदम ओरिजिनल लगे। यहाँ तक कि एक गाने में भी 1000 लोगों को लेना पड़ा था। दोस्तों फिल्म में दिखाई गई लाल चंदन की लकड़ी जो कि एकदम रियल लगती है दरअसल वो फाइबर और फोम से बने हुई थी जो हज़ारों की संख्या में बनायी गयी थी।

फिल्म के आर्ट डिपार्टमेंट ने लाल चंदन की लकड़ी के लिए तो छोटी सी फैक्ट्री तक खड़ी कर दी थी जो एकदम रियल जैसी लगती थी। फिल्म में आर्ट डिपार्टमेंट का काम डिजानर मोनिका और रामाकृष्ण ने किया था।

जंगल में हुई शूटिंग के दौरान मेकर्स को चंदन के तस्करी के ट्रांसपोर्ट वाले सीन्स को शूट करने में अच्छी ख़ासी दिक्कत होती थी क्योंकि रास्ते बहुत ख़राब थे। ऐसे में कई जगहों पर टीम ने कच्ची सड़के बनाई, ताकि आसानी से गाड़ियां जा सकें। दोस्तों फ़िल्म की शूटिंग के दौरान एक बड़ा ही दिलचस्प वाकया भी हुआ था जिसने कुछ देर के लिये सबको परेशानी में भी डाल दिया था।

दरअसल इस फिल्म की शूटिंग कुछ दिनों तक केरल के जंगलों भी की गई थी। एक दिन जब फिल्म की गाड़ियां क्रू को लेकर शूटिंग से वापस आ रही थीं, तो पुलिस ने उन्हें रास्ते में ही रोक लिया और सारे प्रूफ दिखाने के बाद भी पुलिसवालों ने उनकी बातों पर विश्वास नहीं किया कि वह लाल चंदन की लकड़ी नहीं, बल्कि फोम और फाइबर के लट्ठे हैं।

हालांकि बाद में पुलिस को यक़ीन हुआ कि यह फ़िल्म की शूटिंग ही हो रही थी तब उन्होंने सबको जाने दिया। इस फिल्म के सिनेमैटोग्राफर ‘मिरोस्ला कुबा बोजेक’ जो कि पोलैंड से आये एक ट्रेंड कैमरामैन हैं, फ़िल्म को ख़ूबसूरत बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है।

यह भी पढ़ें:- जब दिवालिया हो गये थे बिग बी।

Pushpa The Rise Earning NaaradTV
Pushpa Cast

Pushpa Cast-

फिल्म में अल्लू अर्जुन और रश्मिका मंदाना पुष्पराज और श्रीवल्ली के मुख्य किरदारों में हैं। अल्लू अर्जुन की यह पहली पैन इंडिया फिल्म है जिसमें उन्हें मेन लीड के लिए कास्ट किया गया। कम लोगों को ही पता होगा कि अल्लू अर्जुन इस फिल्म के लिए पहली पसंद नहीं थे।

दरअसल पुष्पाराज के किरदार के लिए पहले ऐका महेश बाबू को चुना गया था, लेकिन उन्होंने इस रोल को ठुकरा दिया। फिल्म के डायरेक्टर सुकुमार की यह फिल्म अल्लू अर्जुन के साथ उनकी तीसरी फ़िल्म है जो बॉक्स ऑफ‍िस पर लगातार सफल रही। दोनों ने पहली बार वर्ष 2004 में रिलीज़ आर्या फिल्म में साथ काम किया था जो सुपरहिट हुई थीे।

फिर दोनों की जोड़ी ने 2009 में आर्या 2 में काम किया और लगभग 12 वर्षों बाद पुष्पा तीसरी सफल फिल्म बनी, जिसमें दोनों ने एक साथ काम किया है। शूटिंग के दौरान पुष्पा के गेट अप में रेडी होने के लिए अल्लू अर्जुन को पूरे 2 घंटे का समय लगता था और शूट‍िंग के बाद लगभग 20 से 40 मिनट मेकअप उतारने में लग जाया करता था।

‘पुष्पा’ के हिंदी वर्जन में अल्लू अर्जुन को बॉलीवुड अभिनेता गोलमाल फेम श्रेयस तलपड़े ने अपनी आवाज़ दी है, जो अल्लू पर बिल्कुल फिट बैठती है। हालांकि इससे पहले अल्लू की अधिकतर फ़िल्मों में डबिंग आर्टिस्ट संकेत मात्रे की ही आवाज़ सुनने को मिला करती थी जिसे दर्शक भी ख़ूब पसंद करते थे।

बताया जाता है कि शुरुआत में टीज़र में अल्लू के लिये संकेत की आवाज़ का ही इस्तेमाल किया गया था लेकिन बाद में श्रेयस की आवाज़ कर दी गयी, जिसको लेकर काफी दर्शकों ने विरोध भी जताया था। बहरहाल श्रेयस द्वारा बोले गये डॉयलॉग “मैं झुकेगा नहीं” और ”पुष्पा नाम सुनकर फ्लावर समझा है क्या? फ्लावर नहीं, फायर है”, आज भी हिट हैं और सोशल मीडिया पर इनकी धूम मची हुई है।

श्रेयस ने अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि वे नियमित रूप से डबिंग नहीं करते। एकमात्र फिल्म जिसे उन्होंने पुष्पा से पहले डब किया था, वह थी ‘द लायन किंग’ और वह फ़िल्म भी बॉक्स ऑफिस पर बहुत कामयाब रही थी।”

बात करें अपनी खूबसूरत अदाओं से हर किसी को दीवाना बना देने वाली ग्लैमरस ऐक्ट्रेस रश्मिका मंदाना की, जिन्होंने अपने फिल्मी करियर की शुरूआत वर्ष 2016 में रिलीज़ कन्नड फिल्म ‘किरिक पार्टी’ से की थी, इसके बाद उन्होंने तेलुगू फिल्म इंडस्ट्री में भी काम शुरू कर दिया था और इसके लिए उन्होंने बाकयदा तेलुगू भाषा सीखी थी।

फिल्म ‘पुष्पा: द राइज’ में अपने किरदार श्रीवल्ली को जीवंत करने के लिए उन्होंने विशेष रूप से चित्तूर की भाषा सीखी थी। हालांकि इस किरदार के लिये भी रश्मिका पहली पसंद नहीं थीं दरअसल पहले श्रीवल्ली का किरदार फिल्म में अपने आइटम सॉग से सब को दीवाना बनाने वालीं ऐक्ट्रेस सामंथा रुथ को ऑफर किया गया था। लेकिन उन्होंने इस नॉन ग्लैमरस लुक को ठुकरा दिया, जिसके बाद रश्मिका मंदाना इस रोल के लिये चुनी गयीं।

चूंकि फिल्म में उनका किरदार एक दूध बेचने वाली मजदूर की साधारण सी लड़की का है, इसलिए रश्मिका को ग्लैमरस न दिखाकर साधारण लहंगे और साड़ियों के ज़रिये देशी लुक दिया गया। फिल्म के हिंदी वर्जन में रश्मिका मंदाना के किरदार की आवाज़ को प्लेबैक सिंगर स्मिता मल्होत्रा ​​​​ने डब किया है।

इससे पहले भी स्मिता फिल्म रेस में कैटरीना कैफ और बाहुबली की देवसेना यानि अनुष्का शेट्टी सहित कई साउथ ऐक्ट्रेस के लिये डब कर चुकी हैं। इसके अलावा उन्होंने फ्रोजन 2 में अरेन्डेल की रानी के चरित्र को अपनी आवाज दी थी। बतौर सिंगर स्मिता मल्होत्रा ने ‘यादों की नदिया’, ‘तू कौन है’ जैसे कई गाने गा चूकी हैं।

दोस्तों इस फ़िल्म का हर किरदार कहानी में एक ख़ास जगह रखता है और कोई भी रोल बेवज़ह नहीं लगता। चाहे रेड्डी बंधुओं के किरदार हो या पुलिस अफसर भंवर सिंह शेखावत का। फ़िल्म में अल्लू अर्जुन और रश्मिका मंदाना के अलावा फहाद फासिल, धनंजय, राव रमेश, सुनील मंगलम, अनुसूइया भारद्वाज और अजय घोष जैसे कई बेहतरीन ऐक्टर हैं।

फिल्म में सुनील मंगलम श्रीनु नामक खलनायक की भूमिका निभा रहे हैं हालांकि वे बतौर काॅमेडियन ज़्यादा जाने जाते हैं। इस फ़िल्म के ज़रिये मलयालम अभिनेता फहाद फाजिल और कन्नड़ अभिनेता धनंजय ने तेलुगू फ़िल्म में अपना डेब्यू किया है। हालांकि फहाद द्वारा निभाये भंवर सिंह शेखावत के रोल के लिए पहले विजय सेतुपति का नाम चुना गया था। लेकिन डेट्स की कमी की वजह से उन्होंने यह फिल्म ठुकरा दी, जिसके बाद यह रोल फहाद फाजिल को मिल गया।

फिल्म की ओर सबका ध्यान खींचने के लिये सामंथा रूथ का एक स्पेशल आइटम नंबर रखा गया है जो चर्चा में भी आया। बताया जाता है कि यह आइटम नंबर पहले दिशा पाटनी को ऑफर हुआ था, लेकिन उन्होंने इसे करने से इनकार कर दिया। दिशा पाटनी के अलावा यभ नंबर ऐक्ट्रेस नोरा फतेही को भी ऑफर हुआ था, लेकिन उन्होंने भी इसे करने से मना कर दिया था।

Pushpa The Rise Lyrics Music
‘पुष्पा: द राइज़’: गीत- संगीत-
‘पुष्पा: द राइज़’: गीत- संगीत-

दोस्तों  सामंथा पर फ़िल्माया  बोल्ड स्पेशल आइटम नंबर ‘ऊ अंतवा मावा ऊ अंतवा मावा’ जिसका हिंदी वर्जन ‘ऊ बोलेगा या ऊ ऊ बोलेगा साला’ है, उसे ख़ूब प्रचारित किया गया लेकिन पॉपुलरटी की बात की जाये तो श्रीवल्ली सांग उस पर ज़्यादा भारी पड़ा। जो आज बच्चे-बच्चे की जुबान पर चढ़ चूका है।

श्रीवल्ली गाने को देवी श्री प्रसाद ने कंपोज किया है और इस गाने को तलुगू व अन्य साउथ लैंग्वेजेज़ में सिंगर सिड श्रीराम ने गाया है। वहीं हिंदी में इस गाने को मशहूर बॉलीवुड प्लेबैक सिंगर जावेद अली ने गाया है जिसे लिखा है गीतकार रक़ीब आलम ने।

दोस्तों यह गाना लोगों को इस कदर पसंद आया है कि इसके भोजपुरी से लेकर कश्मीरी वर्जन तक बन चुके हैं और सोशल मीडिया पर रोज़ रील्स बन रहे हैं वो अलग। इस गाने से संबंधित एक वीडियो नारद टीवी पर पहले भी आ चुका है जिसे आप डिस्क्रिप्शन में दिये लिंक के ज़रिये देख सकते हैं।

Pushpa The Rise Earning NaaradTV
‘पुष्पा: द राइज़’ क्रेज
‘पुष्पा: द राइज़’ क्रेज-

दोस्तों सोशल मीडिया पर आज पुष्पा फिल्म छायी हुई है और न सिर्फ भारत में बल्कि विदेशी लोग भी पुष्पा के डायलॉग से लेकर गानों पर रील बना रहे हैं लेकिन हम जो घटना आपको बताने वाले हैं उसमें एक बंदे ने तो फिल्म के डायलॉग और डांस की बजाय इस फिल्म में दिखाए गए अपराध से प्रभावित होकर उसे ही अपना आदर्श बना लिया।

हालांकि वह पुलिस के हत्थे चढ़ गया और पुष्पराज की तरह कामयाब न हो सका। दरअसल यासीन इनायथुल्ला नाम का यह शख्स कर्नाटक-आंध्र सीमा से महाराष्ट्र जाने वाले रास्ते में पुष्पा के ही स्टाइल में लाल चंदन की तस्करी कर रहा था, लेकिन सीमा पार करने के बाद उसे महाराष्ट्र पुलिस ने धर दबोचा और अपने इस चोरी की प्रयास में वह नाकाम हो गया।

दोस्तों ‘पुष्पा’ फिल्म का टीजर अप्रैल 2021 में रिलीज़ हुआ था जिसे दर्शकों ने बहुत पसंद किया था। निर्माताओं के अनुसार, पुष्पा का टीजर टॉलीवुड में 1.5 मिलियन लाइक्स के साथ सबसे अधिक पसंद किया जाने वाला टीजर बन कर इतिहास रच चुका है।

‘पुष्पा: द राइज़’ कमाई-

फिल्म के हिंदी रिलीज़ के राइट खरीदने वाले मनीष शाह ने बॉलिवुड हंगामा को दिए इंटरव्यू में बताया था कि ‘पुष्पा: द राइज़’ 17 दिसंबर, 2021 को सिनेमाघरों में रिलीज़ हुई थी और पहले दिन सिर्फ 3.33 करोड़ के साथ बॉक्स ऑफिस पर खाता खोला था लेकिन क्रिसमस के बाद इस फिल्म ने हिंदी बॉक्स ऑफिस पर तेज रफ्तार पकड़ ली।

दोस्तों मज़े की बात कि 14 जनवरी को यह फिल्म अमेजन प्राइम पर आने के बाद भी बाद भी थियेटर्स में कमाई करती रही। तमिल, तेलुगु, मलयालम और कन्नड़ भाषा में हुई कमाई को छोड़ दें तो भी फिल्म ने 31 दिनों में ही मात्र हिंदी वर्जन से ही लगभग 88.50 करोड़ का कलेक्शन कर लिया था और अब तक 100 करोड़ का आंकड़ा भी पार करने में कामयाब हो चुकी है।

यह ना सिर्फ 2021 की सबसे ज्यादा कमाने वाली फिल्मों में शामिल हो चुकी है, बल्कि साल की सबसे ज्यादा मुनाफेदार फिल्म भी बन चुकी है और अभी भी फिल्म की कमाई ज़ारी ही है।

फिल्म पुष्पा ने न सिर्फ भारत में, बल्कि ओवरसीज में भी जम के कमाई की है।लगभग 200 करोड़ के बजट में बनी इस फिल्म के वर्ल्डवाइड बॉक्स ऑफिस कलेक्सन की बात करें तो अब तक लगभग 350 करोड़ से भी ऊपर है।

Watch On Youtube-

 

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!