CricketSports

आईपीएल के नए चैंपियन संजू सैमसन की कहानी क्या टीम इंडिया में धोनी की भरपाई कर पाएँगे संजू सैमसन ?

दोस्तों इंडियन प्रीमियर लीग को आज भले ही कुछ लोगों द्वारा पैसों में तौलकर देखा जाता है लेकिन इस बात को भी कोई नकार नहीं सकता है कि हुनर के मामले में यह लीग एक अच्छे और अनुभवी जौहरी का काम करती है।

हर साल जहां कुछ नये खिलाड़ी यहां अपने आप को साबित करने आते हैं तो वहीं कुछ खिलाड़ी ऐसे भी होते हैं जिनके हुनर को यहां हर साल एक मंच प्रदान किया जाता है जहां वे अपने जौहर को तराशने का काम करते हैं। 

इसी जौहरी के हाथों में रहकर हाल ही में अपनी चमक से सबको चकाचौंध कर देने वाले एक हीरे का नाम है संजू सैमसन

Sanju Samson with his family Naaradtv
संजू सैमसन

संजू सैमसन का शुरुआती जीवन-

संजू सैमसन का जन्म 11 नवम्बर 1994 को केरला की राजधानी तिरुवनंतपुरम में हुआ था। इनके पिता का नाम सैमसन विश्वनाथ है जो दिल्ली पुलिस के रिटायर्ड पुलिस कोस्टेबल होने के साथ साथ एक अच्छे फुटबॉल प्लेयर भी रह चुके हैं जहां इन्होंने संतोष ट्रॉफी में दिल्ली की टीम का प्रतिनिधित्व किया है। संजू सैमसन की मां का नाम लीजी विश्वनाथ है, इसके अलावा संजू सैमसन के बड़े भाई का नाम सेली सैमसन है।

संजू सैमसन ने अपनी शुरुआती पढ़ाई रोजरी सिनियर सेंकेडरी स्कूल दिल्ली से पुरी करने के बाद तिरुवनंतपुरम की मार इवानीयस कोलेज से अंग्रेजी विषय में बी ए की डिग्री हासिल की।

Sanju.Samson Naaradtv
संजू सैमसन

संजू सैमसन का क्रिकेट में रूचि-

संजू सैमसन ने छः साल की उम्र से ही क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था और इस खेल में संजू की प्रतिभा को इनके पिताजी ने बहुत जल्द ही भांप लिया था और इसीलिए जब बहुत कोशिशों के बाद भी संजु सैमसन का सलेक्शन दिल्ली की अंडर 13 टीम में नहीं हुआ तब अपने बेटे की दिलचस्पी और हुनर को देखते हुए इनके पिता ने दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल पद से रिटायरमेंट ले लिया और केरला आ गए।

केरला आने के बाद संजू सैमसन ने क्रिकेट के अपने हुनर को नये शिरे से तराशना शुरु किया जिसमें इनकी मदद इनके नये कोच बिजू जोर्ज ने की। अपने पिता के त्याग और संजू सैमसन की कड़ी मेहनत का ही नतीजा था कि ग्यारह साल की उम्र में संजू सैमसन को केरला की अंडर 13 टीम में चुन लिया गया जहां इन्होंने अपने पहले ही मैच में शतक लगाकर खुद के चुनाव को सही साबित भी कर दिया था।

संजू यहीं नहीं रुके उन्होंने साउथ जोन अंडर 13 टुर्नामेंट के पांच मैचों में चार शतक लगाकर सबको अपना मुरीद बना लिया।

यह भी पढ़ें:- क्रिकेट के लिये घर छोड़ने वाले ओझा ने गाँगुली को ‘ना’ बोलने की कीमत चुकाई।

Sanju-Samson-Naaradtv
संजू सैमसन

संजू सैमसन का लगातार अच्छे प्रदर्शन-

संजू सैमसन के लगातार अच्छे प्रदर्शन की बदौलत आगे इन्हें केरला की अंडर 16 और अंडर 19 टीम का कप्तान भी बनाया गया, जिसमें अंडर 16 टीम की तरफ से गोवा के खिलाफ खेलते हुए संजु सैमसन ने 138 गेंदों 200 रनों की शानदार पारी खेली थी। साल 2012 में संजु सैमसन को मलेशिया में होने वाले  एशिया कप के लिए भारत की अंडर 19 टीम में भी सलेक्ट कर लिया गया था।

 यहां संजू सैमसन के प्रदर्शन को देखते हुए इन्हें 2013 में होने वाले अंडर 19 एशिया कप की टीम में वाइस कैप्टन के तौर पर शामिल किया गया जहां फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ इनके शतक की बदौलत भारतीय टीम यह टुर्नामेंट जीतने में कामयाब रही थी।

इस जीत के बाद बीसीसीआई द्वारा संजू सैमसन को साल 2014 में होने वाले अंडर 19 क्रिकेट वर्ल्डकप के लिए भी उपकप्तान के तौर भेजा गया था जहां इन्होंने भारत की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाए थे।

संजू सैमसन का नाम अब तक भारतीय क्रिकेट के गलियारों में गूंजने लगा था, अंडर 19 में अपने बल्ले का जौहर दिखाने वाले संजू सैमसन का जादु फस्ट क्लास क्रिकेट में भी नजर आ रहा था। 3 नवम्बर 2011 को अपना रणजी ट्रॉफी में डेब्यू करने वाले संजू सैमसन ने 2013-14 सीजन में 58 की औसत से 530 रन बनाए थे।

 इस प्रदर्शन को देखते हुए संजू सैमसन को 21 साल की उम्र में साल 2015 में केरला की रणजी ट्रॉफी का कप्तान बना दिया गया जिसके चलते संजू सबसे कम उम्र में रणजी ट्रॉफी में अपनी टीम के कप्तान बनने वाले खिलाड़ी बन गए थे।

2016-17 के रणजी ट्रॉफी सीज़न में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले संजू सैमसन ने अपने लिस्ट ए करियर की शुरुआत 23 फरवरी 2012 को आंध्र प्रदेश के खिलाफ खेलते हुए की थी।

12 अक्टूबर 2019 को केरला और गोवा के बीच खेले जाने वाले लिस्ट ए मैच में संजू सैमसन ने दोहरा शतक लगाया था जो आज भी लिस्ट ए क्रिकेट में किसी विकेटकीपर बल्लेबाज द्वारा बनाया गया सर्वाधिक स्कोर है

इस मैच में सचिन बेबी के साथ इनकी 338 रनों की साझेदारी लिस्ट ए क्रिकेट के इतिहास में तीसरी सबसे बड़ी पार्टनरशिप है।

Sanju-Samson-NaaradTV 1211
संजू सैमसन

संजू सैमसन का अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर में शुरुआत-

अब बात करें इनके अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर की तो अगस्त 2014 में इंग्लैंड के खिलाफ एक टी 20 और पांच वनडे मैचों के लिए संजू सैमसन को भारतीय टीम में शामिल किया गया था लेकिन यहां उन्हें एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला था।

आखिरकार 19 जुलाई 2015 को संजू सैमसन ने जिम्बाब्वे के खिलाफ अपना पहला अन्तर्राष्ट्रीय टी 20 मैच खेला जिसमें इन्होंने 19 रन बनाए थे।

संजू सैमसन ने अब तक भारतीय टीम की तरफ से कुल सात मैच खेले हैं जिनमें इनके बल्ले में वो धार नजर नहीं आई जिसे देखते हुए इन्हे अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट में खेलने का मौका मिला था।

अब अगर बात करें इनके क्रिकेट करियर के सबसे शानदार सफर यानी आईपीएल के बारे में तो साल 2012 में इन्हें कोलकाता की टीम ने अपने स्क्वायड में शामिल किया था लेकिन उस साल इन्हें एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला था, लेकिन गंभीर की कप्तानी में जब उस साल इनकी टीम ने पहली बार आईपीएल का ताज अपने नाम किया तो संजू सैमसन वो ट्रोफी उठाने वाले सबसे युवा खिलाड़ी बने थे।

साल 2013 में इन्हें राजस्थान रॉयल्स की तरफ से खेलते हुए पंजाब के खिलाफ अपना पहला आईपीएल मैच खेलने का मौका मिला था जिसमें इन्होंने अपनी बेहतरीन विकेटकीपिंग और बल्लेबाजी से सबको चौंका दिया था।

आगे साल 2016 में संजू राजस्थान रॉयल्स पर लगे बैन के चलते दिल्ली की तरफ से भी खेलते हुए नजर आए लेकिन 2018 में आठ करोड़ की मोटी रकम देकर राजस्थान रॉयल्स ने इन्हें फिर से अपना हिस्सा बना लिया था और तब से यह खिलाड़ी इस टीम की बैटिंग लाइनअप में धुरी का काम करता आ रहा है।

साल 2021 में स्टीव स्मिथ की जगह संजु सैमसन को राजस्थान रॉयल्स का नया कप्तान बनाया गया था।12 अप्रैल 2021 को आईपीएल के चौदहवें सीज़न में कप्तान के तौर पर अपना पहला मुकाबला खेल रहे संजू ने इस सीजन का पहला शतक भी लगा दिया है और साथ ही संजू सैमसन कप्तान के तौर पर अपने पहले ही मैच में शतक लगाने वाले आईपीएल के पहले बल्लेबाज भी बन गए हैं।

संजू सैमसन का आईपीएल में प्रदर्शन-

संजू सैमसन ने अपने आईपीएल करियर में कुल 108 मैच खेले हैं जिनमें इनके नाम 2703 रन हैं और हाल ही में पंजाब किंग्स के खिलाफ खेलते हुए इनके बल्ले से निकले 119 रन इनका सर्वाधिक स्कोर है।

संजू सैमसन ने अपने आईपीएल करियर में तीन शतक लगाए हैं जिनमें से पहला शतक इन्होंने दिल्ली की तरफ से खेलते हुए लगाया था।

आईपीएल के अलावा संजू ने 55 फस्ट क्लास क्रिकेट मैच  और 95 लिस्ट ए क्रिकेट मैच खेले हैं जिनमें इनके रनों का आंकड़ा क्रमश 3162 और  2445 है।

संजू सैमसन के अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट के आंकड़े इनके टैलेंट की सही ग्वाही नहीं देते हैं क्योंकि यहां इन्होंने केवल सात टी20 मैच खेले हैं जिनमें इनके रनों का आंकड़ा 83 है।

Sanju-Samson-with his wife
संजू सैमसन अपनी पत्नी चारुलता सैमसन के साथ 

संजू सैमसन का ब्यक्तिगत जीवन-

अब बात करें इनकी निजी जिंदगी के बारे में तो संजू सैमसन का विवाह दिसंबर 2018 में चारुलता सैमसन से हुआ था।

यू ट्यूब पर देखें –

 

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!