naaradtv.com

दोस्तों जब बात, भारत और पाकिस्तान की होती है तो माहौल अपने आप ही गर्म हो जाता है फिर चाहे बात राजनीती की हो ,क्रिकेट की हो या फिर सिनेमा की.बॉलीवुड ने जब-जब भारत और पाकिस्तान वाले फार्मूले को अपनाया वो हमेशा ही हिट रहा .उदहरण के तौर पर हम  ग़दर एक प्रेम कथा , वीर ज़ारा , बजरंगी भाईजान जैसी फिल्मों को ले सकते हैं .एक ऐसी ही फिल्म थी हिना . जो अपने सुपरहिट गीतों की वजह से आज भी याद की जाती है . फिल्म भारत और पाकिस्तान के पृष्ठभूमि पर आधारित है जब एक तूफानी रात में फिल्म के हीरो ऋषि कपूर अपने पडोसी मुल्क पाकिस्तान पहुँच जाते हैं .फिर शुरू होती है प्रेम ,दर्द और बिछोह की कहानी .इधर  नायक की यादास्त चली जाती है और पाकिस्तान में हिना नाम की लड़की से उसका प्रेम प्रसंग शुरू हो जाता  है उधर उसकी दूसरी प्रेमिका उसके इंतज़ार में नज़रे बिछाये बैठी है .फिल्म का अंत भी दुखद ही रहता है क्यूंकि हिना की अंत में मौत हो जाती है ,फिल्म में दोनों मुल्कों के बीच शांति और भाई चारे का सन्देश भी  दिया गया है .वैसे अगर इस फिल्म पर बातें करें तो कहने को बहुत कुछ है लेकिन दरअसल  हमारा ये लेख दूसरे विषय पर आधारित है .आज के लेख में हम बात करेंगे फिल्म की लीड एक्ट्रेस ज़ेबा बख्तियार की जिनके किरदार के नाम पर इस फिल्म का शीर्षक है. राज कपूर  साहब ने बॉलीवुड को न जाने कितनी बेहतरीन अभिनेत्रियों से रूबरू कराया फिर चाहे वो ज़ीनत अमान रही हों ,सिम्मी ग्रेवाल ,वैजन्तीमाला या मन्दाकिनी ये लिस्ट बड़ी लम्बी है .इन्ही नामों में से एक नाम ज़ेबा बख्तियार की भी रहा है जिन्हे हम राज कपूर की अंतिम खोज  कह सकते हैं .जी हाँ , दरसल हिना ज़ेबा की पहली फिल्म थी इस फिल्म का थोड़ा हिस्सा ही शूट हो पाया था की राज कपूर साहब इस दुनिया से चल बसे. बाद में उनके बेटे रणधीर कपूर ने इस फिल्म को पूरा किया इस तरह से ये कहा जा सकता है की ज़ेबा राज कपूर साहब की अंतिम खोज थीं ।

Zeba Bhaktiyar And Rishi Kapoor In Heena Movie Image Source

जेबा बख्तियार  का जन्म 5 नवंबर 1965 को पाकिस्तान के क्वेटा में हुआ था. इनकी माता पिता की चार संताने थी ,दो भाई और  दो बहनें .जेबा का असली नाम शाहीन था। इनके पिता जी याह्या बख्तियार पाकिस्तान के नामी सियासतदानों में एक थे  तथा पाकिस्तान के अटोर्नी जनरल भी रहे .अपनी प्रारंभिक शिक्षा क्वेटा से ही पूरी करने के बाद ये इस्लामाबाद चली आयीं .वहीँ से इन्होने लॉ की पढाई पूरी की .पढाई के दौरान ही मात्र 19 साल की उम्र में इनके घर वालों ने इनकी शादी कर दी ,लेकिन शादी के एक साल बाद ही इन्होने अपने पति को तलाक़ दे दिया और अपनी आगे की पढाई शुरू कर दी .पढाई के दौरान ही इनके कुछ दोस्तों ने इन्हे सलाह दी की तुम्हे एक बार फिल्मों में ट्राय करना चाहिए.

Zeba’s Father Yahya Bakhtiar Image Source

चूँकि ज़ेबा ने म्यूजिक -आर्ट कल्चर में भी पढाई की हुई थी इसलिए उनका रुझान फिल्मों की तरफ भी था . दोस्तों के कहने पर ये एक स्टूडियो में पहुंची .जहाँ पर इनकी खूबसूरती की बदौलत इन्हे एक टीवी सीरियल में काम भी मिल गया .लेकिन अब ज़ेबा के सामने एक नयी मुश्किल पैदा हो गयी .दरसल ज़ेबा के घर वाले नहीं चाहते थे की ज़ेबा फिल्मों में काम करें .लेकिन ज़ेबा ने अपने सपनों को दबने नहीं दिया .परिवार के लाख मना करने के बावजूद  इन्होने अनारकली टीवी सीरियल में काम किया .बस फिर क्या था अनारकली की सफलता के बाद इनके खूबसूरती के किस्से हिंदुस्तान पहुंचे .राज कपूर साहब को अपनी फिल्म हिना के लिए एक नए चेहरे की तलाश थी .फिल्म की  राइटर हसीना मोईन ने राज कपूर साहब को इसके लिए ज़ेबा का नाम सुझाया .दरअसल हसीना मोईन खुद भी पाकिस्तान से ही थी और ज़ेबा की सफलता से काफी प्रभावित थीं .फिल्म शुरू तो हुई लेकिन राज कपूर साहब के निधन के कारण बीच में ही रूक गयी .इसी बीच ज़ेबा अभिनेता जावेद जाफरी के संपर्क में आयी और दोनों ने 1989 में शादी भी कर ली लेकिन ये शादी भी एक साल ही चल पायी और दोनों ने 1990 में तलाक़ ले लिया .फिल्म हिना को बाद में रणधीर कपूर ने पूरा किया .1991 में ये फिल्म रिलीज़ हुई और बॉक्स ऑफिस पर हिट रही .

Heena Movie Scene Image Source

हिना की सफलता ने ज़ेबा को बॉलीवुड में और भी कई फ़िल्में दिलवायीं जैसे की मोहब्बत  की आरज़ू ,स्टन्टमैन ,जय विक्रान्ता आदि .इनमें से जय विक्रान्ता ही औसत हिट रही .बाद में इन्होने कई पाकिस्तानी फिल्मों में भी काम किया .1995 में इन्होने अदनान सामी के साथ फिल्म की सरगम .ज़ेबा ने 1992 में सलमान वालिआनी से तलाक़ लेकर 1993 में अदनान सामी से शादी भी की .पर ये शादी भी ना चल सकी और 1997 में दोनों का तलाक़ हो गया .अदनान और ज़ेबा का एक बेटा भी है अज़ान सामी खान .जेबा अदनान से तलाक और उसके बाद बेटे अजान की कस्‍टडी को लेकर भी सुर्खियों में रहीं। ज़ेबा ने बॉलीवुड और पाकिस्तानी फिल्म मिलाकर लगभग 12 फिल्मों में काम किया .साथ ही साथ इन्होने कई फ़िल्में और टीवी serials का निर्देशन भी किया .फ़िलहाल ज़ेबा अपने बेटे और बहु के साथ कराची में खुशहाल ज़िंदगी बिता रही हैं .

Zeba With His Son Image Source

Anurag Suryavanshi

By Anurag Suryavanshi

Hello! I am Anurag Suryavanshi, The founder of Naarad TV, The same Naarad TV to which your eternal love has garnered more than 1.5 million subscribers in just two years.....Now the road ahead is also very difficult, let's go together and share love and happiness in the whole world. मैं अकेला ही चला था जानिब-ए-मंज़िल मगर लोग साथ आते गए और कारवाँ बनता गया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!