naaradtv.com

दोस्तों कहा जाता है कि बोलीवुड में आप भले ही कितने ही बड़े परिवार से ताल्लुकात क्यों ना रखते हैं लेकिन ये बात इस इंडस्ट्री में आपकी सफलता का पैमाना तय नहीं कर सकती है।

शायद इसीलिए कहा जाता है कि एक बड़ा परिवार आपको यहां इज्जत दिलवा सकता है काम दिलवा सकता है लेकिन कोई भी परिवार या सरनेम किसी इंसान को हुनर नहीं दिलवा सकता है। मोहनिश बहल एक ऐसे ही अभिनेता हैं जिन्होंने जो भी किया, जितना भी कमाया सिर्फ और सिर्फ अपने हुनर की बदौलत कमाया और इसीलिए बेहतरीन अभिनेत्रियों से भरे हुए परिवार से आने के बाद भी इन्हें आज भी अपने काम की वजह से जाना जाता है।

जो एक अभिनेता की अपने करियर में सबसे बड़ी उपलब्धि मानी जाती है।

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम है अनुराग सुर्यवंशी और आप देख रहे हैं नारद टीवी।

14 अगस्त 1961 को मुम्बई में भारतीय सिनेमा की मशहूर अभिनेत्री नूतन और भारतीय नेवी में लेफ्टिनेंट कमांडर रहे रजनीश बहल के घर मोहनिश बहल का जन्म हुआ था। इनके परिवार की बात करें तो मोहनिश बहल की नानी शोभना समर्थ भारतीय सिनेमा के शुरुआती दौर में एक जानी मानी अभिनेत्री थी और इनकी मौसी तनुजा भी बोलीवुड की एक मशहूर अभिनेत्री रह चुकी है। इस तरह काजोल मोहनिश बहल की चचेरी बहन है, जो अवार्ड्स और फिल्मों के नजरिए से भारतीय सिनेमा की सबसे सफल अभिनेत्री हैं। मोहनिश बहल की पढ़ाई कैथड्रल स्कूल से और सेंट जेवियर्स कॉलेज में हुई थी, जहां से इनके मन में बोडी बिल्डिंग करने में दिलचस्पी बढ़ने लगी थी जो आगे चलकर इनकी आदत बनने वाली थी।

मोहनिश बहल बचपन में एयरफोर्स पायलट बनना चाहते थे और यह सपना कहीं ना कहीं उनकी मां नूतन भी देख रही थी कि उनका बेटा अपने देश की सेवा करें लेकिन मोहनिश बहल के पिता ने उन्हें मना कर दिया।

इसी बीच एक बड़ी अभिनेत्री का बेटा होने के कारण फिल्मी दुनिया के बहुत से लोग उन्हें जानने लगे थे जो मोहनिश बहल की फिटनेस को देखकर उन्हें अपनी फिल्मों में लेना चाहते थे।

साल 1981 में मोहनिश बहल ने फिल्म इतिहास में काम किया जिसमें इनके साथ अनिल कपूर, राज कुमार और शबाना आजमी जैसे दिग्गज भी काम कर रहे थे।

इतिहास फिल्म बनकर तैयार हो गई लेकिन इसे पर्दे तक पहुंचने में छः साल लग गए, तब तक  मोहनिश बहल कुछ और फिल्मों में भी काम कर चुके थे ।

मोहनिश बहल की पहली रिलीज फिल्म का नाम बेकरार था जो साल 1983 में आई थी, जिसके बाद इन्होंने तेरी बाहों में और मेरी अदालत जैसी फिल्मों में भी किया और फिर साल1987 में फिल्म इतिहास भी सिनेमा घरों में रिलीज हो गई।

लेकिन छः सालों में छः फिल्मों में काम करने के बाद भी मोहनिश बहल की सिर्फ एक ही फिल्म हिट हो पाई थी जिसका नाम पुराना मंदिर था, लेकिन इस फिल्म से भी मोहनिश बहल को कोई फायदा नहीं हुआ क्योंकि होरर फिल्मों को उस जमाने में बी ग्रेड फिल्में माना जाता था।

Mohneesh Bahl

अब तक मोहनिश बहल ने सभी फिल्मों में लीड रोल के तौर पर काम किया था लेकिन पांच फिल्मों की नाकामयाबी ने उनका करियर शुरू होने से पहले ही खत्म कर दिया था।

अगले दो सालों में मोहनिश बहल को किसी  भी फिल्म का ओफर नहीं मिला जिसके चलते उन्होंने अपने शौक को ही अपनी जिंदगी बनाने का निर्णय लिया और बोम्बे फ्लाईंग क्लब में पायलट बनने की ट्रेनिंग लेने लगे थे।

 मोहनिश बहल को बोडी बिल्डिंग का भी शौक था जिसके चलते वो मुम्बई के सी रोक होटल में जिम किया करते थे, यहां मोहनिश बहल के साथ एक दुबला पतला लड़का भी जिम करने आया करता था क्योंकि उसे बोलीवुड फिल्मों में हीरो बनना था, इस लड़के का नाम था सलमान खान।

सलमान खान मोहनिश को जब भी ये बताते कि वो एक्टर बनना चाहते हैं तो मोहनिश बहल जवाब में कहते कि जब अच्छी खासी लम्बाई और बोडी होने के बाद भी उन्हें कोई नहीं ले रहा है तो तुम कैसे एक्टर बनोगे।

इसके कुछ समय बाद सलमान खान को फिल्म मैंने प्यार किया में मुख्य अभिनेता के रूप में साइन कर लिया गया जिसमें उनके साथ एक नई लड़की भाग्यश्री भी अपना डेब्यू कर रही थी।

मैंने प्यार किया फिल्म साइन करने के बाद जब सलमान खान ने इस फिल्म के विलेन के बारे में पुछा तो सुरज बड़जात्या ने उन्हें कहा कि विलेन की कास्टिंग अभी नहीं हुई है, फिलहाल उस पर ही काम चल रहा है।

इसके अगले दिन सलमान खान ने मोहनिश बहल को बताया कि उन्हें हीरो के तौर पर एक फिल्म मिल गई और अगर तुम विलेन का रोल करना चाहते हो तो ओडिशन दे सकते हो।

मोहनिश बहल का ओडिशन हुआ वो सलेक्ट भी हो गए लेकिन साइन करने से पहले ताराचंद बड़जात्या नूतन से इसकी परमिशन लेना चाहते थे, परमिशन मिलने के बाद मोहनिश बहल को साइन कर लिया गया और इस तरह एक फ्लोप हीरो के सबसे बड़े विलेन बनने का सफर शुरू हो गया।

मैंने प्यार किया की शूटिंग शुरू हुई, नए चेहरों ‌को मुख्य भूमिकाओं में रखकर बनाई जाने वाली इस फिल्म की कामयाबी से सभी अंजान थे और इसीलिए मोहनिश बहल भी शूटिंग के बाद मिलने वाले समय में अपने पायलट बनने की ट्रेनिंग भी कर रहे थे।

29 दिसंबर 1989 को फिल्म मैंने प्यार किया रिलीज हुई और ब्लोकबस्टर साबित हुई, सलमान खान और भाग्यश्री जहां हीरो हीरोइन के तौर पर हर डायरेक्टर के लिए पहली पसंद बन गए तो वहीं मोहनिश बहल की विलेन वाली छवि भी लोगों के दिलों में बस गई थी।

इस फिल्म के बाद मोहनिश बहल को बड़ी फिल्मों में काम करने का मौका मिलने लगा था जिसमें सलमान खान की बाघी और शाहरुख खान की पहली फिल्म दीवाना के साथ साथ फिल्म हीना भी शामिल थी।

Mohneesh Bahl (C)

साल 1991 में जब मोहनिश बहल गोविंदा के साथ अपनी फिल्म शोला और शबनम की शूटिंग के लिए ऊटी गए हुए थे तब उन्हें अपनी मां की बिगड़ती तबियत के बारे में पता चला , मोहनिश बहल जब तक मुम्बई पहुंचते तब तक उनकी मां का निधन हो चुका था।

राजश्री प्रोडक्शन के मालिक ताराचंद बड़जात्या ने मैंने प्यार किया के दौरान नूतन से उनके बेटे को पोजिटिव रोल में लेकर एक फिल्म बनाने का वादा किया था जिसे पुरा करने का मौका उन्हें साल 1994 में मिला।

इस साल फिल्म हम आपके हैं कौन रिलीज हुई जिसमें अनुपम खेर, माधुरी दीक्षित और सलमान खान के साथ साथ मोहनिश बहल को भी अपना हुनर दिखाने का मौका मिला था।

इस फिल्म में सलमान खान के बड़े भाई के रूप में मोहनिश बहल को लोगों द्वारा बहुत पसंद किया गया था लेकिन नूतन अपने बेटे की इस कामयाबी को देखने के लिए उनके साथ नहीं थी।

इसके बाद साल 1999 में मोहनिश बहल एक बार फिर राजश्री की फिल्म हम साथ साथ है में नजर आए थे, जिसकी कहानी और गानों के कारण इस फिल्म के हर किरदार को आज तक घर घर में पहचाना जाता है।

मोहनिश बहल ने इसके बाद जानवर, LOC और विवाह जैसी फिल्मों में भी काम किया था।

3 अगस्त 2004 को मुम्बई के कोलाबा में स्थित एक 32 मंजिला इमारत में आग लग गई थी जिसके अंतिम फ्लोर पर मोहनिश बहल के पिता रजनिश रहा करते थे।

आनन फानन में पुरी इमारत को खाली करवाया गया लेकिन आखिरी फ्लोर तक पहुंचते पहुंचते बहुत देर हो गई  जिसके कारण मोहनिश बहल के पिता का आग में जलकर निधन हो गया ।

फिल्मों के अलावा मोहनिश बहल ने टेलीविजन इंडस्ट्री में भी काम किया है जहां उनके पहले सीरियल का नाम संजीवनी था जो साल 2002 में आयी थी, इसके अलावा मोहनिश बहल ने साल 2003 में रामानंद सागर के प्रोडक्शन में बन रहे सीरयल आरज़ू है तू ,में भी काम किया था।

विवाह फिल्म के बाद मोहनिश बहल चांस पे डांस फिल्म में भी नजर आए लेकिन उसके बाद फिल्मों में मोहनिश बहल को काम मिलना कम हो गया था जिसके चलते उन्होंने टीवी इंडस्ट्री में अपने सफर को जारी रखा और कुछ तो लोग कहेंगे और सावधान इंडिया में भी काम किया।

मोहनिश बहल साल 2014 में सलमान खान की फिल्म जय हो में और साल 2019 में संजय दत्त और अर्जुन कपूर के साथ पानीपत में भी नजर आए थे।

साल 1992 में मोहनिश बहल ने अभिनेत्री एकता सोहनी से शादी की थी जिन्हे  आरती बहल के नाम से भी जाना जाता है, दोनों की दो बेटियां हैं जिसमें पहली बेटी का नाम प्रनूतन और दुसरी बेटी का नाम तृषा है।

प्रनूतन सलमान खान के प्रोडक्शन हाउस में बनी फिल्म नोटबुक से अपने करियर की शुरुआत कर चुकी हैं।

Mohneesh Bahl

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!