BiographyCricketSports

कायरन पोलार्ड का गरीबी से क्रिकेट तक का सफर

क्रिकेट ,   22 लोगों के बीच 22 गज की पट्टी पर खेला जाने वाला खेल और लोकप्रियता ऐसी कि विश्व के अलग-अलग समय क्षेत्रों को भी एक सूत्र में पिरो दे। दोस्तों आज के दौर में इस खेल की लोकप्रियता का अंदाज इसी बात से लगाया जा सकता है कि विश्व के कुल 195 देशों में से 104 देशों में यह खेल आधिकारिक रूप से खेला जाता है और बात अगर भारत की करें तो फिर यहा इस खेल का क्या ही मेल! बड़े-बड़े महानगर दिल्ली, मुंबई , चेन्नई, कोलकाता इस खेल की आभा के सामने भाव शून्य नजर आते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है कि भारत में क्रिकेट प्रशंसकों का जोश केवल भारतीय खिलाड़ियों तक ही सीमित है परंतु यहां कई विदेशी खिलाड़ियों को भी सर आंखों पर बिठा लिया जाता है।

जी हां दोस्तों आज हम आपसे बात करेंगे कैरेबियाई खिलाड़ी कायरन पोलार्ड की।

आपको बता दें कि कायरन पोलार्ड का जन्म 12 मई सन 1987 को Tacarigua, Trinidad में हुआ, उनका पूरा नाम Kieron Adrian Pollard है। पोलार्ड के परिवार में उनकी    “सिंगल मदर” के साथ दो छोटी बहने भी हैं।

पोलार्ड का उनके परिवार के साथ शुरुआती दौर मानसिक और आर्थिक दोनों दृष्टिकोण से अत्यंत संघर्ष भरा रहा, एक इंटरव्यू के दौरान पोलार्ड ने कहा था कि क्रिकेट में कामयाबी से पहले उन्होंने बेतहाशा गरीबी के दिन देखे हैं। सुबह का खाना खाते वक्त पोलार्ड को और उनके परिवार को यह पता भी नहीं रहता था कि उन्हें शाम का खाना नसीब होगा भी या नहीं! वही बात करें पोलार्ड के शुरुआती दौर के मानसिक संघर्ष की तो यह सिलसिला तब शुरू हुआ जब उनकी मां रोजगार की तलाश में Trinidad के ही एक शहर Tunapuna में शिफ्ट हुई। आपराधिक और अनैतिक कामों में यह शहर Trinidad मे सबसे आगे शुमार रहता था। अपना बचपन एक ऐसे आपराधिक शहर में गुजारने के कारण पोलार्ड के लिए हत्या, ड्रग्स , लूटपाट जैसे मामलों से रूबरू होना एक आम बात थी परंतु फिर भी , जुर्म के इन  व्रहत काले गलियारों में चलने के सिवाय पोलार्ड ने अपने हुनर से अपनी जिंदगी को एक नई दिशा दे कर उस पर चलना शुरू किया।क्रिकेट के क्षेत्र में कायरन पोलार्ड का नाम सन 2005 में तब हाईलाइट हुआ जब अंडर-19 टीसीएल ग्रुप वेस्टइंडीज के लिए खेलते हुए पोलार्ड ने अपनी अद्भुत लंबे हिट्स मारने की क्षमता का जौहर दिखाया। जिसकी बिनाह पर पोलार्ड का सिलेक्शन वेस्टइंडीज अंडर-19 टीम में पाकिस्तान टूर के लिए हो गया। और इसी टूर में पोलार्ड के प्रदर्शन को देखते हुए उन्हें 2006 अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप के लिए वेस्टइंडीज की  तरफ से  जगह दे दी गई। टूर्नामेंट का आयोजन श्रीलंका में हुआ और इस बड़े अंतरराष्ट्रीय अंडर 19 क्रिकेट पटल पर पोलार्ड अपनी प्रतिभा के पंख नहीं फैला पाए। इस टूर्नामेंट में पोलार्ड का प्रदर्शन कुछ इस प्रकार रहा कि पोलार्ड ने उनके द्वारा खेली गई 4 innings में कुल मिलाकर 19 रन ही बनाए लेकिन यहां उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक मैच में 2 विकेट भी अपने नाम किए थे जिसके बाद वह मैच वेस्टइंडीज ने जीता था।

Kieron Pollard

इस अंडर-19 वर्ल्ड कप में पोलार्ड की असफलता के बाद भी वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड ने पोलार्ड पर भरोसा करना जारी रखा, वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड द्वारा उन पर भरोसा जताने की सीधी सीधी वजह थी पोलार्ड के अंदर छिपी शानदार ऑलराउंडिग क्रिकेट क्षमता । बोर्ड को यह पता था कि पोलार्ड अपने बड़े बड़े और शक्तिशाली शाट्स से किसी भी मैच  को, किसी भी मोड़ से , अपने पाले में लाने की क्षमता रखते हैं। और बोर्ड द्वारा जताए इस भरोसे को, पोलार्ड ने घरेलू क्रिकेट में अपनी अद्भुत कला को प्रदर्शित करते हुए, अदा किया।

अगर हम कायरन पोलार्ड के घरेलू मैचों की कहानी उनके आंकड़ों की जुबानी समझे तो उन्हें एक आदर्श ऑलराउंडर के रूप में परिभाषित किया जा सकता है। आपको बता दें कि पोलार्ड ने 27 प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं जिनमें उनके द्वारा अर्जित किए गए रन 1584 रहे। जिसमें 4 शतक और 5 अर्धशतक भी शामिल है इस दौरान उनकी बैटिंग एवरेज 25.02 की रही और इसी के साथ पोलार्ड ने 14 विकेट्स भी  31.14 की बॉलिंग एवरेज से अपने नाम किए।

और वही अगर हम बात करें “लिस्ट ए” क्रिकेट में कारण पोलार्ड के आंकड़ों की तो यहां उन्होंने 151 मैचों में अपनी कला का प्रतिनिधित्व किया। जहां उनके द्वारा score किए गए रन 3341 रहे। जिसमें 3 शतक और 16 अर्धशतक भी शामिल है और यहां पोलार्ड ने 88 विकेट्स भी 29.65 की बोलिंग एवरेज से अपने नाम दर्ज करवाएं।

अपने घरेलू क्रिकेट करियर में शानदार आंकड़ों की कुछ ऐसी ही निरंतरता के कारण पोलार्ड की जिंदगी में वह मुकाम भी आया जब उनका पदार्पण अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट जगत में साल 2007  क्रिकेट वर्ल्ड कप में साउथ अफ्रीका के खिलाफ हो गया, अपने पहले अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय मैच में पोलार्ड का प्रदर्शन बिल्कुल भी वैसा नहीं रहा जिस सलीके की ख्याति लेकर वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट जगत में गए थे। अपने पहले मैच में पोलार्ड 17 गेंदों पर महज 10 रन बनाकर ही पवेलियन की तरफ लौट गए । वही इस मैच में पोलार्ड ने 3 ओवर भी डालें जहां 20 रन देकर एक भी सफलता उनके हाथ नहीं लगी।

      और अगर हम बात करें T20 अंतरराष्ट्रीय में कायरन पोलार्ड के डेब्यू की तो T20i में उनका डेब्यू 20 जून साल 2008 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हुआ और अपने पहले ही टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच में पोलार्ड को बैटिंग और बॉलिंग दोनों में ही हाथ आजमाने का मौका नहीं मिला। फिर भी वेस्टइंडीज ने यह मैच 7 विकेट से अपने नाम किया था।

ये भी पढ़ें-मुरली कार्तिक: जिसके करियर में सिर्फ इंतजार था

      इसके अलावा यदि हम बात करें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर में  कायरन  पोलार्ड के आंकड़ों की तो पोलार्ड ने 113 अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय मैच खेले जिनमें उनके द्वारा score किए गए रन 2496 रहे जिसमें 3 शतक और 10 अर्धशतक भी शामिल है। इस दौरान उनका बैटिंग एवरेज 26 का रहा। वहीं उन्होंने ओडीआई क्रिकेट में 53 विकेट भी 39.71 की औसत से अपने नाम किए इस दौरान उनका बेस्ट बॉलिंग फिगर 27 रन देकर 3 विकेट का रहा।

      बात करें यदि पोलार्ड के T20 अंतरराष्ट्रीय आंकड़ों की तो यहां उन्होंने 76 मैच खेले और 25.02 की औसत से 1226 रन  अपने नाम किए जिसमें 5 अर्धशतक भी सम्मिलित है । t20 अंतरराष्ट्रीय में पोलार्ड ने 37 विकेट्स अपने नाम किए इस दौरान उनका बॉलिंग एवरेज 26.16 क रहा। T2Oi पोलार्ड का अभी तक का बेस्ट बोलिंग फिगर 25 रन देकर चार विकेट्स का है।

अगर अब हम बात करें कायरन पोलार्ड के आईपीएल करियर की तो पोलार्ड का नाम कुछ उन चुनिंदा विदेशी खिलाड़ियों में शामिल है जिन्होंने भारत में आईपीएल खेलते खेलते भारत को ही अपना दूसरा घर मान लिया है। लेकिन ऐसा करने पर खिलाड़ियों को मजबूर किया भारतीय क्रिकेट प्रशंसकों ने, दोस्तों कई विदेशी खिलाड़ियों को भारत में इतनी लोकप्रियता और प्रशंसा दी जाती है, जितना कि उनके खुद के मुल्क मे उन्हें नहीं मिलती। कुछ ऐसे ही चुनिंदा खिलाड़ियों में कायरन पोलार्ड का नाम भी शामिल है। आईपीएल में पोलार्ड चार बार की चैंपियन मुंबई इंडियंस की तरफ से एक ऑलराउंडर की भूमिका में खेलते हुए नजर आते हैं, अपने अभी तक के आईपीएल करियर में पोलार्ड ने 157 मैच खेले हैं जिनमें उनके नाम 2963 रन 30.5 4 की औसत से शामिल है। आईपीएल में पोलार्ड ने 15 अर्धशतक भी जड़ें हैं और उनका अभी तक का सर्वश्रेष्ठ स्कोर, आईपीएल में 83 रन का है।

      इसके अलावा आईपीएल में कायरन पोलार्ड के नाम 58 विकेट 30.03 की औसत से भी शामिल है और आईपीएल में पोलार्ड का बेस्ट बोलिंग फिगर 44 रन देकर 4 विकेट का है।

      आईपीएल के अलावा पोलार्ड दुनिया भर में आयोजित होने वाली कई क्रिकेट लीग में अपने हुनर का प्रदर्शन करते हैं जिनमें मुख्यतः कैरीबियन प्रीमीयर लीग, पाकिस्तान सुपर लीग

      बिग बैश लीग आदि शामिल है। अभी हाल में

      पोलार्ड दुबई में आयोजित होने वाली T10 legue में भी खेलते हुए नजर आए थे ।

Watch on You Tube:-

      तो यह था कायरन पोलार्ड द्वारा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में तय किया गया उनका अभी तक का सफर इसके अलावा यदि हम बात करें  कायरन  पोलार्ड से संबंधित कुछ अन्य तथ्यों की तो वे इस प्रकार हैं

I) 113 ओडीआई और 76 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने के बावजूद भी पोलार्ड का डेब्यू अभी तक अंतर्राष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट में नहीं हुआ है।

II) पोलार्ड का क्रिकेट जगत में प्रचलित उपनाम

Polly भी है।

III) t20 क्रिकेट में अपनी विध्वंसक पारियों के चलते पोलार्ड को T20 स्पेशलिस्ट के तमगे से भी नवाजा जा चुका है।

IV) आईपीएल 2010 में खरीदे गए खिलाड़ियों में कायरन पोलार्ड सबसे महंगे खिलाड़ी थे।

V) आईपीएल में सबसे ज्यादा छक्के लगाने के मामले में कायरन पोलार्ड  छठवें नंबर पर है उन्होंने अभी तक आईपीएल करियर में 198 छक्के जड़े हैं।

अब अगर बात करें कायरन पोलार्ड के निजी जीवन की तो पोलार्ड ने अपनी गर्लफ्रेंड जैना अली के साथ, 7 साल लंबे चले अफेयर के बाद 25 अगस्त 2012 को शादी की जिससे उनको एक बेटा और एक बेटी है।

फिलहाल में कायरन पोलार्ड वेस्टइंडीज की T20 टीम का प्रतिनिधित्व कप्तान के रूप में कर रहे हैं। और वेस्टइंडीज टीम की पुरानी ख्याति को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापस लाने की मुहिम में जुटे हुए हैं।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button