BiographySports

क्रिकेट की दुनिया का सबसे वजनी खिलाड़ी

तारीख़ 19-मार्च-2007, 9वें एकदिवसीय विश्व कप का 12वा मैच भारत बनाम बरमूडा वेस्टइंडीज़ के पोर्ट ऑफ़ स्पेन में खेला जा-रहा था। भारतीय पारी की 7वीं गेंद पर रोबिन उथप्पा के बैट से बाहरी किनारा लेकर गेंद स्लिप में खड़े डेन लिवरॉक के हाथों में गयी। कैच पकड़ने की ख़ुशी में 130 किलो के लिवरॉक ने पूरे स्टेडियम का चक्कर लगाया। भारत ने सहवाग,गांगुली, युवराज और सचिन की पारियों के चलते मैच आसानी से जीत लिया। लेकिन, टेलीविज़न मीडिया से लेकर अख़बारों तक में लिवरॉक के कैच का ज़िक्र भारत की जीत से ज़्यादा था। क्योंकि, क्रिकेट एक ऐसा खेल है जिसमें आपको फ़िट शरीर के साथ रफ़्तार और लचीलापन चाहिये। प्रतिस्पर्धा के इस दौर में भारी-भरकम और अनफ़िट शरीर के साथ मैदान पर टिक पाना मुश्किल है। लेकिन, कुछ खिलाड़ियों के जज़्बे के सामने क्रिकेट पंडितों के सभी आंकलन और ऑंकड़े फ़ेल हो जाते हैं। एक ऐसे ही खिलाड़ी हैं वेस्टइंडीज़ के ‘माउंटेन मैन’ रहकीम कोर्नवॉल। जी वो ही रहकीम कोर्नवॉल जिनके चयन पर विशेषज्ञों ने कहा था-“वेस्टइंडीज़ में अब खिलाड़ियों की कमी साफ़ नज़र आ-रही है।” वो ही रहक़ीम कॉर्नवॉल जिन्होंने शरीर के नाम पर उठने वाले सभी सवालों के जवाब अपने प्रदर्शन से दिये। चलिये दोस्तों, नारद टी.वी. की श्रंखला ‘राइज़िंग स्टार्स’ के आज के एपिसोड में रूबरू होते हैं रहकीम कोर्नवॉल से . रहकीम कोर्नवॉल का जन्म 1 फ़रवरी 1993 को एंटीगुआ के लीवर्ड आइलैंड में हुआ था। लीवर्ड आइलैंड ने वेस्टइंडीज़ क्रिकेट को इतिहास के महानतम खिलाड़ी दिये हैं। जिनमें ख़ास तौर पर विव रिचर्ड्स , कर्टली एम्ब्रोज़ , एंडी रॉबर्ट्स और रिची रिचर्डसन का नाम आता है। साथ ही वर्तमान तक लीवर्ड आइलैंड से वेस्टइंडीज़ क्रिकेट इतिहास के 4 कप्तान भी निकल चुके हैं। क्रिकेट की धनी सभ्यता वाले क्षेत्र से आने के कारण रहकीम कोर्नवॉल को बचपन से ही क्रिकेट का शौक था।

उम्र बढ़ने के साथ-साथ क्रिकेट के प्रति रहकीम की रुची बढ़ने लगी। लेकिन, रहकीम के सामने समस्य थी उनका बढ़ता वज़न। क्योंकि, आधुनिक क्रिकेट में फ़िटनेस खेल का पैमाना होती है। लेकिन, रहकीम ने वज़न को कम करने से ज़्यादा खेल को सुधारने पर ध्यान दिया। जिसका नतीजा रहा स्थानीय टूर्नामेंट में रहकीम का बेहतर होता प्रदर्शन। साल 2011 में रहकीम ने लीवर्ड आइलैंड के लिये अपना पहला फर्स्ट क्लास मैच खेला।

ये भी पढ़ें-कायरन पोलार्ड का गरीबी से क्रिकेट तक का सफर

6 फ़ुट 6 इंच लम्बे रहकीम कॉर्नवॉल एक दायें हाथ के ऑफ़ ब्रेक बॉलर हैं। रहकीम के पास गेंद को सही ठिकाने पर फेंकने की क़ाबिलियत के साथ कई घंटो तक लगातार स्पैल करते रहने का दम है। साथ ही क़रीब 145 किलो के रहकीम कोर्नवॉल मौका मिलने पर अपने बल्ले से धुआंधार रन बरसाने का हुनर रखते हैं। रहकीम कोर्नवॉल अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की नज़रों में साल 2016 में पहली बार आये। रहकीम ने भारत के विरुद्ध वेस्टइंडीज़ बोर्ड प्रेजिडेंट इलेवन की ओर से खेलते हुये 5 विकेट प्राप्त किये और साथ ही सबसे अधिक 41 रन भी बनाये। प्राप्त किये गए विकेटों में विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे जैसे स्पिन के तगड़े बल्लेबाज़ों के नाम शामिल थे। रहकीम ने इस प्रदर्शन के बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा। आने वाले कुछ फर्स्ट क्लास मैचों में रहकीम ने अपनी ऑफ़ स्पिन का कमाल दिखाते हुये करिश्माई प्रदर्शन किया। अक्टूबर 2016 के अंत में ही रहकीम का चयन श्रीलंका जाने वाली वेस्टइंडीज़ ए टीम में हो गया। रहकीम ने श्रीलंका में 3 अनौपचारिक टेस्ट मैचों में बल्ले से निराश किया। लेकिन, 20.20 की आश्चर्यजनक औसत से 23 विकेट अपने नाम किये। अब रहकीम कोर्नवॉल वेस्टइंडीज़ आने वाली सभी अंतर्राष्ट्रीय टीमों के ख़िलाफ़ प्रैक्टिस मैच खेलने वाली टीम का हिस्सा ज़रूर होते। उस दौरान ही रहकीम कोर्नवॉल ने कैरिबियन प्रीमियर लीग में सैंट लूशिया स्टार्स की ओर से खेलते हुए अपनी आतिशी बल्लेबाज़ी के दम पर कई मैच जिताये।

रहकीम कोर्नवॉल का प्रदर्शन साल दर साल बेहतरीन होता जा-रहा था। रहकीम ने साल 2018-19 घरेलू सत्र में 17.7 की लाजवाब औसत से 54 विकेट प्राप्त किये। मगर, इस शानदार प्रदर्शन के बाद भी वेस्टइंडीज़ आने वाली इंग्लैंड के ख़िलाफ़ तीन टेस्ट मैचों की श्रंखला के लिये रहकीम का चयन नहीं हुआ। जब चयनसमिति के चेयरमैन कॉर्टनी ब्राउन से रहकीम के चयन को लेकर सवाल किया गया। तो, ब्राउन ने कहा- “वो खिलाड़ी अच्छा है। लेकिन, उसको फ़िट क्रिकेटर बनाने के लिये हमें अलग से प्रोग्राम बनाने होंगे।” ब्राउन का यह जवाब इस बात की ओर इशारा था। कि, रहकीम का चयन उनके खेल से ज़्यादा शरीर पर निर्भर करता है। रहकीम के लिए ये दौर मायूस करने वाला था। लेकिन, बड़ो ने ठीक कहा है-” सदा वक़्त, एक-सा नहीं रहता है।”  ब्राउन के बाद पूर्व ऑफ़ स्पिनर रॉजर हार्पर नए चेयरमैन नियुक्त किये गये। हार्पर के चयनसमिति में आते ही साल 2019 की वेस्टइंडीज़ बनाम भारत श्रंखला के लिये रहकीम का चयन हो गया। फिर आया 30 अगस्त 2019 का वो दिन जो कुछ महीने पहले रहकीम के लिये ख्वाब जैसा था। यानि उनके अन्तर्राष्ट्रीय डेब्यू करने का दिन। रहकीम कोर्नवॉल ने भारत के ख़िलाफ़ डेब्यू टेस्ट मैच से क्रिकेट इतिहास के सबसे भारी (वज़नदार) क्रिकेटर होने का रिकॉर्ड अपने नाम किया। रहकीम से पहले ये रिकॉर्ड 135 किलो के डेन लिवरॉक के नाम था। जिनका ज़िक्र हमने वीडियो की शुरुआत में किया था।

Rahkeem Cornwall

     रहकीम कोर्नवॉल का पहले मैच में प्रदर्शन कुछ ख़ास नहीं रहा। टेस्ट की दोनों पारियों में रहकीम कोर्नवॉल ने 173 रन देकर सिर्फ़ 3 विकेट प्राप्त किये। लेकिन, पहले अंतर्राष्ट्रीय विकेट के रूप में पुजारा को आउट करना उनके लिये बेहद ख़ास रहा। रहकीम के औसत प्रदर्शन के बाद भी चयनकर्ताओं ने उन मे विश्वास बनाए रखा। रहकीम ने भी ज़्यादा इंतज़ार ना कराते हुए अपने प्रदर्शन से चयन को सही साबित किया। रहकीम ने अफ़ग़ानिस्तान के विरुद्ध अपने दूसरे ही अंतर्राष्ट्रीय टेस्ट मैच में 10 विकेट प्राप्त किये। जिसमें 75 रन देकर 7 विकेट तो उन्होंने पहली पारी में ही ले लिये थे। रहकीम के इस प्रदर्शन ने सनसनी मचा दी। अब रहकीम कोर्नवॉल की चर्चा उनके वज़्न को लेकर नहीं उनके खेल को लेकर हो रही थी। साल 2019 में रहकीम के घरेलु सर्किट में प्रदर्शन को देखते हुए , वेस्टइंडीज़ बोर्ड ने उन्हें ‘चैंपियन प्लेयर ऑफ़ द ईयर’ से सम्मानित किया।

Watch on You Tube:-

साल 2020 में कोरोना के कारण अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से दूर रहने के बाद साल 2021 के फ़रवरी महीने में रहकीम कोर्नवॉल ने वेस्टइंडीज़ के लिये टेस्ट क्रिकेट में वापसी की। रहकीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 2 मैचों की 4 पारियों में 14 विकेट प्राप्त किये और दूसरे टेस्ट के आखिरी क्षणों में रहकीम ने स्लिप में एक बेहतरीन कैच के साथ वेस्टइंडीज़ को बांग्लादेश में 2-0 से यादगार जीत दिलाई। रहकीम द्वारा किये गये 25 ओवर के लम्बे स्पेल और स्लिप में पकड़े गये उस कैच ने उनके शरीर को केंद्र में रखकर आलोचना करने वालों के सवालों का सटीक जवाब दिया। बांग्लादेश जीत के बाद वेस्टइंडीज़ के कोच फील सिमंस ने रहकीम का ज़िक्र करते हुए कहा- “कॉर्नवाल का आकार कोई मुद्दा नहीं है। वह लम्बे स्पेल कर सकता है, शक्तिशाली तरीके से बल्लेबाजी कर सकता है और स्लिप में क्षेत्ररक्षण करते समय फुर्तीला, सतर्क एवं सुरक्षित भी है”। वीडियो रिकॉर्ड किये जाने के समय तक रहकीम ने 5 टेस्ट मैचों में 27 विकेट प्राप्त किये हैं। जबकि, 63 फर्स्ट क्लास मैचों में 303 विकेट उनके नाम हैं। जिनमे से 19 बार 5 विकेट और 4 बार 10 विकेट लेने का कारनामा भी किया है। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में रहकीम के आंकड़ें और टी-20 लीगों में की गयी उनकी बल्लेबाज़ी , इस बात की ओर इशारा करती है। कि, आने वाले दिनों में अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट रहकीम के प्रदर्शन की चमक से रौशन होने वाला है।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button